Search

You may also like

winkwink
3842 Views
नागरिकता के लिए बुढ़िया को चोदा
Desi Kahani Indian Sex Stories Kamukta Sex Story XXX Kahani अन्तर्वासना सेक्स स्टोरी चुदाई की कहानी मेरी चुदाई हिंदी सेक्स स्टोरीज

नागरिकता के लिए बुढ़िया को चोदा

ओल्ड लेडी सेक्स कहानी में पढ़ें कि कम्पनी की ओर

1605 Views
पड़ोस में आई बाहरी लड़की की चूत चुदाई
Desi Kahani Indian Sex Stories Kamukta Sex Story XXX Kahani अन्तर्वासना सेक्स स्टोरी चुदाई की कहानी मेरी चुदाई हिंदी सेक्स स्टोरीज

पड़ोस में आई बाहरी लड़की की चूत चुदाई

सेक्सी इंडियन गर्ल चुदाई कहानी में मैंने अपने पड़ोस में

winkhappy
3241 Views
मेरे चोदू यार का लंड घर में सभी के लिए- 2
Desi Kahani Indian Sex Stories Kamukta Sex Story XXX Kahani अन्तर्वासना सेक्स स्टोरी चुदाई की कहानी मेरी चुदाई हिंदी सेक्स स्टोरीज

मेरे चोदू यार का लंड घर में सभी के लिए- 2

मेरी कामुकता सेक्स स्टोरी मेरे कॉलेज के स्टाफ के एक

coolhappy

सहेली के बॉयफ्रेंड से होटल में चुदी

दोस्तो, मेरा नाम नेहा यादव है. मैं एक सेक्सी लड़की हूँ. मेरे बूब्स और मेरी गांड को देख कर किसी का भी लंड खड़ा हो जायेगा क्योंकि मेरे बूब्स और मेरी गांड दोनों बहुत बड़े बड़े हैं.

मैं हमेशा से ही फैशन में रहती हूँ. मुझे मेकअप करना और नए नए कपड़े पहनना बहुत अच्छा लगता है. मेरे बहुत से बॉयफ्रेंड बने लेकिन उन सबके साथ मेरा ब्रेकअप भी हो गया.
आजकल तो ये सब ब्रेकअप होना इत्यादि सामान्य बात है.

मेरी एक सहेली सोनिका मेरे बहुत ही करीब है और हम दोनों एक दूसरी से सब कुछ शेयर करती हैं. हम दोनों बचपन से ही साथ रही हैं.

मेरी सहेली सोनिका का एक बॉयफ्रेंड है मोहनीश … जिससे वो मुझे बहुत बार मिलवा चुकी है. सोनिका अपने बॉयफ्रेंड से चुदवाती भी है. उसने मुझे ये बात बताया था.

मैं भी हमेशा मॉडर्न कपड़े पहनती हूँ तो मेरी सहेली का बॉयफ्रेंड मोहनीश मुझे हवस भरी नजरों से मुझे देखता है.
हम दोनों के बीच ऐसे ही बातें शुरू हो गयी. मतलब मेरे और मेरी सहेली के बॉयफ्रेंड मोहनीश के बीच है. तो हम दोनों एक दूसरे के बारे जानने लगे. वो भी मेरे बारे में बहुत कुछ जान चुका था और मैं भी उसके बारे में बहुत कुछ जान चुकी थी. हम दोनों की बातें फ़ोन पर भी होने लगी. उसने मेरा नंबर ले लिया था.

हम दोनों एक दूसरे के करीब आते गए. मेरे सेक्सी जिस्म को वो बहुत घूरता था. वो ज्यादातर मेरी गांड को देखता था. मेरी गांड बड़ी है और मेरी गांड बहुत सेक्सी भी है.

इस तरह चलता गया … सोनिका के साथ मैं मोहनीश से मिलती गयी और मैं और मोहनीश एक दूसरे के करीब आते गए. हम तीनों कभी कभी साथ में मूवी देखने भी जाते थे.
एक दिन सोनिका और उसके बॉयफ्रेंड मोहनीश में किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया. सोनिका ने उससे बात करना छोड़ दिया तो इस बीच मैं और मोहनीश एक दूसरे से बहुत करीब आ गए.

हम दोनों एक दूसरे से मिलने भी लगे. मेरी सहेली इस बात से अनजान थी कि मैं उसके बॉयफ्रेंड के साथ बाहर घूमने के लिए जाती हूँ.

मैं अपनी सहेली सोनिका से बहुत बार बोली भी कि वो मोहनीश से बात कर ले … लेकिन वो पता नहीं क्यों उससे बात नहीं करती थी. उन दोनों के बीच झगड़ा बढ़ता गया. मैं और मोहनीश एक दूसरे से बहुत खुलते गए और हम दोनों की बातें सेक्स वाली होने लगी थी.

एक दिन मोहनीश ने मुझे अकेले में मिलने के लिए बुलाया. मुझे ऑफिस जाना था, फिर भी मैं उससे मिलने के लिए गयी और जब हम एक दूसरे से मिले तो उसने मुझसे अपनी दिल की बात बोल दी कि वो मुझे पसंद करता है. वो मेरी सहेली को भूलना चाहता है

मैं मोहनीश की बातें सुन रही थी. मैं जल्दी में थी इसलिए मैं उसको स्माइल देकर ऑफिस चली आई.
मुझे उसकी बात से पता चल गया था कि वो मुझे प्यार करने लगा है.

वो रोज मुझसे कॉल पर बात करता था. वो कभी कभी फ़ोन पर मेरे से सेक्स वाली बातें भी करता था और मुझसे बोलता था कि वो मुझे बहुत चाहता है और मुझसे रोज मिलना चाहता है.
मुझे ऑफिस भी जाना होता था इसलिए हम दोनों रोज एक दूसरे से मिल नहीं पाते थे.

एक दिन उसने रात कॉल किया पर मुझे नींद आ रही थी. फिर भी मैंने उससे बात की और उसके बाद हम दोनों लोग अलगे दिन मिले.
उसने मुझे किस किया और मेरे होंठों को चूसा और मुझे गुलाब दिया. मैं उससे मिलने के बाद और उसको किस करने के बाद ऑफिस चली गयी.

एक दिन मैं और मोहनीश हम दोनों होटल में गए. हमने होटल में खाना खाया. उसके बाद हमने कुछ देर एक दूसरे से बात की और उसके बाद हम दोनों बहुत बार होटल में मिले. हम दोनों के बीच किस करना, एक दूसरे को गले लगाना अब सामान्य बात हो गयी थी.
हम दोनों एक दूसरे से प्यार करने लगे थे.

एक दिन मोहनीश मुझसे मिलने के लिए मेरे ऑफिस के बाहर आया था. हम दोनों लोग एक होटल में गए और कॉफ़ी पीने के बाद के दूसरे से बात करने लगे. उसके बाद वो मुझे पार्क में घुमाने के लिए ले गया और हम दोनों लोग एक दूसरे को किस करने लगे.

एक दूसरे को किस करते करते हम दोनों गर्म होने लगे. उसने मेरी शर्त को ऊपर करके मेरी ब्रा को निकाल दिया और मेरी चूची को चूसने लगा. मैं गर्म होने लगी और मैं सिसकारियाँ लेने लगी.
मैं उसको मना करने लगी कि हम लोग ये सब यहाँ नहीं कर सकते हैं क्योंकि यह एक पब्लिक प्लेस है, कोई हमने देख सकता है, कोई जानपहचान वाला भी मिल सकता है.
तो वो भी मान गया.

लेकिन जब वो मेरी ब्रा निकाल कर मेरी चूची को चूस रहा था तो मुझे बहुत अच्छा लग रहा था. मुझे सच में अजीब से सेक्स वाली फीलिंग आ रही थी. मैं चुदासी हो गयी थी.
लेकिन हम लोग बाहर खुले में ये सब नहीं कर सकते थे.

तब से वो रोज मेरे ऑफिस से छुट्टी वाले समय पर ऑफिस के बाहर आता था और हम दोनों लोग पार्क में जाकर एक दूसरे को किस करते थे.
हम दोनों खुले विचारों के थे इसलिए हम दोनों की आपस में बहुत अच्छी बनती भी थी और हम दोनों हमेशा एक दूसरे को किस करते रहते थे. हम दोनों बहुत दिन से सेक्स करना चाह रहे थे लेकिन मेरे ऑफिस के काम की वजह से मैं समय नहीं निकाल पाती थी.

एक दिन हम दोनों का सेक्स करने का मन था. मैं और मोहनीश हम दोनों लोग होटल में गए और होटल में जाने के बाद उसने होटल रूम लिया. हम दोनों होटल रूम में गए और फ्रेश हुए.

उसके बाद कुछ खाने के लिए आर्डर किया. हम दोनों खाना खाने के बाद एक दूसरे को किस करने लगे. उसने किस करते करते मेरी सलवार सूट को निकाल दिया. मोहनीश ने मेरी ब्रा और पेंटी को भी निकाल दिया और मेरी चूची को चूसने लगा. मेरी चूची बहुत बड़ी है और मेरी चूची को वो बहुत मजे से चूस रहा था और दबा रहा था.

वो मेरी चूची को पी रहा था और मैं सिसकारियाँ ले रही थी. उसने भी अपने कपड़े निकाल दिये और अंडरवियर में हो गया. वो मेरी चूची को चूस रहा था. मेरी मस्त चूची को चूसने के बाद वो मुझे किस करने लगा. मुझे किस करने के बाद वो मेरे गर्दन को किस किया.

मैं भी चुदासी हो गई थी और उसका साथ दे रही थी. हम दोनों गर्म हो गए थे. उसने अपना अंडरवियर निकाल दिया और वो भी नंगा हो गया. उसका लंड देख कर मेरी चूत और पानी छोड़ने लगी. उसका लंड सामान्य आकार का ही था.

वो अपना खड़ा लंड मेरी चूत पर रगड़ने लगा. मेरी चूत पर बाल थे लेकिन बाल छोटे छोटे थे इसलिए मेरी चूत और भी सेक्सी लग रही थी.

मेरी चूत पर अपना लंड रगड़ने के बाद वो मेरी चूत को अपने जीभ से चाटने लगा. मैं उसका सर अपनी चूत में दबाने लगी और वो मेरी चूत को कुत्ते की तरह चाट रहा था.

मेरी चूत चाटने के बाद मोहनीश अपना लंड मेरे जीभ पर रगड़ने लगा. मैं उसका लंड मुंह में लेकर चूसने लगी, मुझे मजा आ रहा था क्योंकि उसका लंड साफ़ था, उसमें कोई गंध नहीं थी. शायद जब वो फ्रेश होने गया था तो अपना लंड धोकर आया होगा.

और उसके बाद वो मेरे कमर को पकड़ कर मेरी चूत को फिर से चाटने लगा. हम दोनों की वासना अपने चरम पर थी. हम दोनों के अन्दर चुदाई की आग लगी थी. हम दोनों पूरे नंगे होटल के रूम के बिस्तर पर सोये थे और एक दूसरे को किस कर रहे थे.

मेरे पूरे नंगे जिस्म को चाटने के बाद मोहनीश अपना लंड मेरी चूत में डालने लगा. उसका आधा लंड मेरी चूत में चला गया और मैं कुछ दर्द और कुछ आनन्द से चीखने लगी.
तो वो धीरे धीरे मेरी चूत में अपना लंड डाल कर मेरी चूत को चोदने लगा.

हम दोनों बड़े आराम से सेक्स कर रहे थे. मैं भी उसका साथ देने लगी तो वो मुझे जोर जोर से चोदने लगा. चुदाई की थकान से प्यास लगी. हमारे बिस्तर के पास एक बोतल पानी रखा था, हम दोनों जब चुदाई करते करते पसीने से भीग जाते तो हम पानी पीते थे.

हम दोनों लोग एक दूसरे को देख कर हंस रहे थे और चुदाई कर रहे थे. वो मेरी चूत में अपना लंड डाल कर मेरी चूत को चोद रहा था. मैं भी अपनी गांड उठा कर उसका लंड पूरा अपनी चूत में ले रही थी.

वो मुझे चोदते चोदते मेरे होंठों को चूसने लगा और मेरे होंठों का रसपान करते हुए मेरी चूत को अपने लंड से चोदने लगा. मैं भी उसको अपनी बांहों में जकड़ रही थी और उससे चुदवा रही थी. हम दोनों चुदाई का पूरा मजा ले रहे थे. मेरी चूत से पानी निकलने लगा. वो मेरी चूत में अपना लंड तेजी से अन्दर बाहर करने लगा.

हम एक दूसरे को चूमते चाटते हुए तेजी से सेक्स करने लगे. ऐसे सेक्स करते करते हम दोनों चरम सीमा पर पहुच गए और हमारा का पानी निकल गया. हम दोनों सेक्स करके एक दूसरे के जिस्म की प्यास को शांत कर चुके थे. तो हम दोनों एक दूसरे से चिपक कर कुछ देर के लिए सो गए.

वो कुछ देर के बाद दुबारा मेरी चूची को चूसने लगा. हम दोनों एक दूसरे से हंस कर बात कर रहे थे. कुछ देर के बाद मेरा ही सेक्स करने का मन करने लगा.

उसने इस बार पोजीशन बदल दिया और मुझे घोड़ी बनाकर मुझे चोदने लगा. हम दोनों ने इस बार बहुत देर तक चुदाई की और उसके बाद उसका पानी मेरी चूत में ही निकल गया.
हम दोनों को यह घोड़ी वाला सेक्स करने में भी बहुत मजा आया. इसके बाद हम दोनों ने एक दूसरे को खूब चूमा चाटा. सेक्स के बाद इस तरह के प्यार का मजा भी अलग ही होता है.

उस दिन की चुदाई में मैं दो बार झड़ चुकी थी.

उसके बाद तो हम दोनों हमेशा जब फ्री होते थे तो किसी होटल में जाकर चुदाई करते थे. मेरी सहेली का अब मोहनीश के साथ पक्का ब्रेकअप हो चुका था. मैं उसके बॉयफ्रेंड को अपना चोदू यार बना चुकी थी. मैं आज भी चुदवाती हूँ. मेरी सहेली को पता नहीं है कि उसका पुराना यार अब मेरी चूत का यार बन चुका है.

मैं और सोनिका आज भी बहुत अच्छी सहेलियां हैं और एक दूसरे के आज भी बहुत करीब हैं. मेरी सहेली सोनिका ने भी नया बॉयफ्रेंड बना लिया है. मुझे नहीं पता कि उसने मोहनीश को क्यों छोड़ा. जबकि वो बहुत बढ़िया चुदाई करता है. मुझे उसके साथ सेक्स करके बहुत अच्छा लगा था.
चलो जैसी सोनिका की मर्जी … शायद उसका मन भर गया होगा मोहनीश के लंड से! एक दिन जब मेरा मन भी उसके लंड से भर जाएगा तो मैं भी अपनी चूत के लिए नया लौड़ा तलाश ही लूंगी.

आप सबको मेरी कहानी कैसी लगी. आप सब मुझे मेल करके जरुर बतायें. आप सबका अच्छा फीडबैक मिला तो अपनी अगली कहानी आपके जल्दी ही पेश करुँगी.
मैं आपके कमेंट का इंतजार करुँगी.

Related Tags : गर्लफ्रेंड की सहेली, चुम्बन, चूत चाटना, रोमांस, होटल में सेक्स
Next post Previous post

Your Reaction to this Story?

  • LOL

    1

  • Money

    0

  • Cool

    0

  • Fail

    0

  • Cry

    0

  • HORNY

    1

  • BORED

    0

  • HOT

    2

  • Crazy

    0

  • SEXY

    1

You may also Like These Hot Stories

1211 Views
प्यासी बंगालन की चूत चुदाई
हिंदी सेक्स स्टोरी

प्यासी बंगालन की चूत चुदाई

  नमस्कार दोस्तो, अन्तर्वासना सेक्स कहानी पर ये मेरी पहली

1764 Views
वासना के वशीभूत पति से बेवफाई-1
चुदाई की कहानी

वासना के वशीभूत पति से बेवफाई-1

कॉलेज खत्म होते ही पापा ने मेरी शादी कराने की

1030 Views
चुदक्कड़ चूतों ने किया मेरा गैंग बैंग- 3
चुदाई की कहानी

चुदक्कड़ चूतों ने किया मेरा गैंग बैंग- 3

फार्म हाउस में चुदाई का जबरदस्त खेल शुरू हो चुका