Search

You may also like

moustache
0 Views
अंधेरे में लॉलीपॉप चूसा और मलाई खाई
Gay Sex Stories In Hindi गे सेक्स स्टोरी

अंधेरे में लॉलीपॉप चूसा और मलाई खाई

रात के अँधेरे में मैंने लंड चूसा अपने पड़ोस के

tongue
0 Views
मैं बीच सड़क पर रण्डी बन के चुदी
Gay Sex Stories In Hindi गे सेक्स स्टोरी

मैं बीच सड़क पर रण्डी बन के चुदी

सभी पाठकों को मेरा नमस्कार! मेरा नाम रितिका है, मैं

surprisenerd
0 Views
मामी ने भाभी की चूत दिलवाई- 1
Gay Sex Stories In Hindi गे सेक्स स्टोरी

मामी ने भाभी की चूत दिलवाई- 1

इंडियन देसी सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मामी की चुदाई

moustache

अंधेरे में लॉलीपॉप चूसा और मलाई खाई

रात के अँधेरे में मैंने लंड चूसा अपने पड़ोस के भैया का. वह मुझे चॉकलेट कैंडी लॉलीपॉप दिलाते थे. एक दिन उन्होंने मुझे बड़ा लॉलीपॉप देने का वायदा किया था.

दोस्तो,
मेरा नाम रोनित है और मेरी उम्र 19 साल है. मैं हिसार हरियाणा का रहने वाला हूं.
आज मैं आपको अन्तर्वासना सेक्स स्टोरी  के माध्यम से अपनी रियल और सच्ची सेक्स कहानी बताने जा रहा हूं.

बात कुछ दिनों पहले की है. हमारे पड़ोस में एक भैया रहते थे. उनका नाम लकी था, वह लगभग 26 साल के थे.

लकी भैया दिखने में बहुत ही स्मार्ट, फेयर कलर, हैंडसम थे, मतलब उनकी जितनी भी तारीफ की जाए कम है. लकी भैया हमेशा मुझे रवीना कहकर बुलाते थे.
मैं बिल्कुल लड़कियों की तरह दिखता था. एकदम सफेद रंग, बिल्कुल काले बाल, शरीर पर कहीं भी एक भी बाल नहीं था. मैं दिखने में ऐसा था कि कोई भी आकर्षित हो जाए.

उस समय मुझे सेक्स के बारे में कोई भी नॉलेज नहीं थी.
मुझे उस समय कुछ नहीं पता था कि यह सब क्या होता है क्योंकि मैं बहुत शर्मीला टाइप का था और हमेशा घर पर ही रहता था.
मैं बहुत कम टाइम घर से बाहर निकलता था.

जब कभी भी मैं रात को लकी भैया के घर जाता था, तो वह मुझे मार्केट से चॉकलेट कैंडी या लॉलीपॉप दिला कर लाते थे.

वो हमेशा कहते थे कि तुझे एक दिन बहुत बड़ी लॉलीपॉप चुसाऊंगा.
मैं भी रोज ही कह देता था- भैया, मुझे वह बड़ी वाली लॉलीपॉप कब दिलाओगे.

चूंकि उस समय मुझे कोई नॉलेज नहीं थी कि वो किस लॉलीपॉप के बारे में बात कर रहे हैं.

एक दिन हमारे पड़ोस में ही रहने वाले टिंकू भैया की शादी थी.
टिंकू भैया के साथ हम दोनों फैमिली का आना जाना बहुत था, तो हम सभी शादी में गए हुए थे.

मैं शादी में खाना खा चुका था.
अब रात के 10:30 बजे गए थे और मुझे बहुत जोर से नींद आ रही थी.
मैंने घर वालों से कहा- मुझे बहुत जोर से नींद आ रही है, मुझे घर जाना है.

पापा मेरे साथ घर जाने लगे, तभी टिंकू भैया के पापा ने हमें रोक दिया और जाने नहीं दिया.
उन्होंने कहा कि रोनित को धर्मशाला के रूम में ही सुला दो.

मैंने धर्मशाला में सोने से मना कर दिया और कहा कि मुझे घर जाना है.

तभी सामने से लकी भैया आ गए और उन्होंने पूछा- क्या हुआ?
तब पापा ने उन्हें सारी बात बताई.

यह सब बात सुनकर लकी भैया के दिमाग में खिचड़ी पकने लगी.

उन्होंने पापा से कहा- मैंने भी खाना खा लिया है और मैं भी सोने के लिए घर जा रहा हूं. अगर आपको ठीक लगे, तो मैं इसको अपने घर ले जाता हूं … ये वहीं पर सो लेगा.
इस पर पापा ने उन्हें हां कर दिया और मैंने भी हां कर दी.

हम दोनों गाड़ी लेकर निकल गए.
रास्ते में हमेशा की तरह उन्होंने मुझे चॉकलेट कैंडी और लॉलीपॉप दिलाई और कहा- आज तुझे बड़ी वाली लॉलीपॉप भी चुसाऊंगा.

मैंने कहा- वो आप लेकर आए हो?
उन्होंने कहा- हां आज मैं साथ लेकर आया हूं … स्पेशल तुम्हारे लिए मेरी जान.

मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था कि भैया ने मुझे ‘मेरी जान ..’ क्यों कहा और वो बड़ी वाली लॉलीपॉप किधर है.

मैंने कहा- ठीक है भैया.

अब हम घर पहुंच चुके थे और लकी भैया ने नाइट सूट पहन लिया था. मेरे पास उस टाइम नाइट सूट नहीं था.

भैया ने मुझसे कहा कि तुम अंडरवियर में ही सो जाओ.
मैं मुस्कुरा दिया और बोला- मुझे शर्म आती है … मैं ऐसे ही सो जाता हूँ.

तब भैया ने कहा- शर्म कैसी, हम दोनों तो लड़के हैं.
मैंने कहा- नहीं, मैं ऐसे ही सो जाऊंगा.
उन्होंने कहा- ठीक है.

रात के 11:00 बज चुके थे. अब उन्होंने लाइट ऑफ कर दी.
हम दोनों घर पर अकेले ही थे … बाकी सब शादी में थे.

तो हम दोनों बातें कर रहे थे और बातों बातों में राहुल भैया ने मुझसे कहा- प्रॉमिस करो, जो कुछ भी कभी भी हमारे बीच बातें होती हैं … वह तुम किसी को नहीं बताओगे.
तो मैंने भी उन्हें प्रॉमिस कर दिया और कहा- मैं कभी किसी को कोई भी हमारे बीच की बात नहीं बताऊंगा.

हम दोनों साथ में सोए हुए थे और भैया मुझे बार-बार किस कर रहे थे. भैया मुझे हमेशा किस करते रहते हैं … तो मुझे कुछ नहीं पता था कि मेरे साथ आगे क्या होने वाला है.

मैंने कहा- भैया मुझे अब नींद नहीं आ रही है.
भैया ने कहा- हां अब तुमको बड़ी वाली लॉलीपॉप चूसनी है न, इसीलिए फिर नींद नहीं आ रही है. तुम्हें मेरी लॉलीपॉप चूस कर मस्त नींद आ जाएगी.

मैंने कहा- भैया ऐसी भी कोई लॉलीपॉप होती है … जिसे चूसने के बाद है मस्त नींद आ जाती है!
भैया ने कहा- हां ऐसी यह बड़ी वाली लॉलीपॉप होती है जिसे चूस कर तुम्हें बहुत अच्छी नींद आएगी.

तब मैंने कहा- फिर तो भैया मुझे जल्दी से लॉलीपॉप दे दो.
भैया ने मुझसे कहा- लॉलीपॉप को तुम्हें मुँह में लेकर आगे पीछे करना है और करते रहना है, जब तक इसमें से दूध नहीं निकल जाता.

मैंने कहा- इस लॉलीपॉप में से दूध भी निकलता है?
उन्होंने कहा- हां इसमें से दूध निकलता है और वह दूध तुम्हें पीना है, जिससे तुम्हें नींद आ जाएगी.
मैंने कहा- ओके.

उन्होंने मुझसे फिर से कहा- तुम प्रॉमिस करो कि यह सब बातें जो हमारे बीच हो रही हैं, वह किसी से नहीं कहोगे वरना कभी भी मैं तुम्हारे साथ नहीं बोलूंगा … और ना ही कभी भी तुम्हें चीज दिलाऊंगा.
मैंने कहा- ओके भैया प्रॉमिस किसी से नहीं कहूंगा.

अब उन्होंने मुझसे कहा- तुम्हें यह लॉलीपॉप केवल चूसनी है … खानी नहीं है न दांत से दबानी है, इसे चूसने के बाद इसमें से अपने आप दूध निकल आएगा. वह सारा दूध तुम्हें सारा पी जाना है, जिससे तुम्हें अच्छी नींद आ जाएगी ओके.

मैंने कहा- ओके भैया … अब लाइट जला लो.
उन्होंने कहा- तुम्हें यह लॉलीपॉप केवल अंधेरे में ही चूसनी है. क्योंकि यह लॉलीपॉप रोशनी में खराब हो जाती है इसीलिए अंधेरे में चूसनी पड़ेगी.

मैंने कहा- ओके भैया.

अब भैया बेड से खड़े हुए और मेरे लिए लॉलीपॉप लाने लगे.

थोड़ी देर में भैया वापस बेड पर आ गए. भैया ने मुझे बेड पर बैठने के लिए कहा.

मैं बैठ गया और भैया खड़े हो गए. उन्होंने मेरी आंख पर एक पट्टी बांध दी.

मैंने कहा- भैया आप मेरी आंखों पर पट्टी क्यों बांध रहे हैं?
भैया ने कहा- यही तो उस लॉलीपॉप का रहस्य है. तुम बस अपने हाथ से उस लॉलीपॉप को पकड़ कर चूसना; तुम्हें वो बहुत मुलायम लगेगी.

मैंने हामी भर दी.

भैया ने मेरी आंख बंद करने के बाद मेरे दोनों हाथों को पकड़ लिया और हाथ पकड़ कर लॉलीपॉप पर लगवा दिए.

मैंने उस लॉलीपॉप को पकड़ा, तो मैंने कहा- ये तो बड़ी गीली लग रही है.

भैया ने अपनी उस लॉलीपॉप पर कुछ चिपचिपा सा लगा रखा था.

भैया मदभरी आवाज में बोले- हां मेरी रवीना डार्लिंग, यही तो वो बड़ी वाली लॉलीपॉप है, जिसे तुमने मुँह में लेकर आगे पीछे करके चूसना है.

मैंने हाथ से बड़ी वाली लॉलीपॉप को जीभ से स्पर्श करते हुए कहा- भैया यह तो बहुत बड़ी है … यह मेरे मुँह में नहीं आएगी. मगर बड़ी मीठी लग रही है. बिल्कुल चॉकलेट जैसा स्वाद आ रहा है.

भैया ने अपनी इस लॉलीपॉप पर लिक्विड चॉकलेट लगा रखी थी. भैया ने कहा- हां तुम इसे अपने मुँह में धीरे-धीरे लो. ये पूरी अन्दर चली जाएगी … तुम शुरू तो करो.
मैंने कहा- ओके भैया.

उस समय मुझे कुछ नहीं पता था कि मेरे साथ क्या हो रहा है.
भैया की लॉलीपॉप बहुत ही ज्यादा मोटी और बड़ी थी, जो मेरे मुँह में नहीं जा रही थी. मैंने बहुत कोशिश की, पर नहीं गई.

मैंने भैया से कहा- यह तो बहुत बड़ी है और मेरे मुँह में नहीं जा रही है.
भैया ने मेरा सर पकड़ लिया और कहा- अब तू चूस!

बस भैया ने जोर से झटका मारा और लॉलीपॉप का आगे वाला हिस्सा मेरे मुँह में चला गया, जिससे मेरा मुँह में दर्द होने लगा.

इस पर मैंने जल्दी से अपने आपको अलग किया और भैया से कहा- मेरा मुँह दर्द हो रहा है.
भैया ने मुझसे कहा- कुछ नहीं होगा … जब इसमें से दवाई जैसी दूध मलाई निकलेगी, तब सब कुछ ठीक हो जाएगा. थोड़ा सा दर्द तुम्हें सहन करना होगा.

यह कहकर उन्होंने दुबारा मेरा सिर पकड़ लिया और अपने लॉलीपॉप को मेरे मुँह में लगा दिया.
मैं लॉलीपॉप चूसने लगा.

तभी भैया ने फिर से झटका मारा और लॉलीपॉप का आगे वाला हिस्सा मेरे मुँह में चला गया. इस बार उन्होंने मुझे नहीं छोड़ा और उसी पोजीशन पर खड़े रहे
फिर धीरे-धीरे जैसे मेरा दर्द कम हुआ तो उन्होंने मुझसे कहा- अब तुम इसे अपने आप आगे पीछे करके चूसो.

उस समय भैया के लॉलीपॉप की लंबाई लगभग 8 इंच थी और मोटाई 3 इंच थी.

अब मैं भैया का लॉलीपॉप आगे पीछे करके चूस रहा था … पर इनका बड़ा वाला लॉलीपॉप मेरे मुँह में अन्दर नहीं जा रहा था.
तो भैया ने मेरा सिर पकड़ के जोर से झटके मारे, जिससे लगभग 2 इंच के तकरीबन लॉलीपॉप मेरे मुँह में घुस गया होगा.

भैया जोर-जोर से मुँह से लॉलीपॉप आगे पीछे कर रहे थे और मैं रो रहा था क्योंकि मेरा मुँह दुख रहा था. पर उन्होंने ध्यान नहीं दिया … वह जोर-जोर से लगे हुए थे.

फिर करीब 5 मिनट तक भैया ने मुझे लॉलीपॉप जोर-जोर से चुसाया और लॉलीपॉप का सारा दूध मेरे मुँह में आगे तक डाल दिया, जिससे वो मेरे मुँह से बाहर न आए.

मुझे लॉलीपॉप का सारा दूध पीना पड़ा.

एक मिनट बाद मैं लॉलीपॉप का दूध पी चुका था. तो उन्होंने अपने लॉलीपॉप को निकाल लिया और कहा- कैसा लगा दूध?

मैं रो रहा था, तो भैया ने मुझे मनाने के लिए चॉकलेट दी … पर मेरे मुँह अभी भी दर्द हो रहा था.

भैया ने मुझे किस किया और कहा- सब ठीक हो जाएगा. अब आगे से कोई दिक्कत नहीं होगी … जब भी तुम बड़ी वाली लॉलीपॉप चूसोगे.
मैंने कहा- अब मैं इस लॉलीपॉप को कभी नहीं चूसूंगा.

इस पर उन्होंने मुझे फिर से किस किया और कहा- नहीं मेरी जान, तुम्हें आगे से कभी दर्द नहीं होगा, यह पहली बार ही होता है … तुम्हें आगे अपने आप मजा आएगा. तुम मुझे बताओ तुम्हें दूध कैसा लगा?

मैंने कहा- भैया मुझे पता ही नहीं लगा लॉलीपॉप मेरे गले में थी और सारा दूध भी सीधा वहीं चला गया. मुझे टेस्ट नहीं पता चला.
तो भैया ने कहा- नेक्स्ट टाइम तुम्हें जरूर टेस्ट करवाउंगा.
मैंने कहा ओके.

भैया ने फिर मुझे किस किया.

अब भैया ने मुझे कहा- तुम सो जाओ अब तुम मजेदार नींद आएगी.
मैं सो गया और भैया भी सो गए.

दोस्तो, यह थी मेरी पहली गे स्टोरी.
आगे मैं बताऊंगा कि भैया ने मेरे साथ क्या क्या मजे किये और उनके बाद उनके दो दोस्तों ने भी मुझे लॉलीपॉप का दूध चुसाया.

आप मेरी इस कहानी जिसमें मैंने लंड चूसा. पर अपने कमेंट जरूर भेजें.

Related Tags : ओरल सेक्स, डर्टी सेक्स, बड़ा लंड, लंड चुसाई, वीर्यपान, हिंदी एडल्ट स्टोरीज़
Next post Previous post

Your Reaction to this Story?

  • LOL

    0

  • Money

    2

  • Cool

    0

  • Fail

    0

  • Cry

    0

  • HORNY

    0

  • BORED

    1

  • HOT

    0

  • Crazy

    0

  • SEXY

    3

You may also Like These Hot Stories

1266 Views
चाचा जी के लंगोट का कमाल
गे सेक्स स्टोरी

चाचा जी के लंगोट का कमाल

मुझे लड़कों में शुरू से दिलचस्पी थी. पर यह पता

moustache
0 Views
मेरी पहली रात खान अंकल के साथ
Gay Sex Stories In Hindi

मेरी पहली रात खान अंकल के साथ

क्रॉसड्रेसर बॉय स्टोरी में पढ़ें कि मुझे लड़कियों की तरह

0 Views
हॉस्टल में वार्डन ने गांडू बनाया
गे सेक्स स्टोरी

हॉस्टल में वार्डन ने गांडू बनाया

मेरे जीवन का पहला सेक्स गांड मरवाई का था. मैं