Search

You may also like

484 Views
हिंदी सेक्स कहानी: आधी रात में गर्लफ्रेंड की चूत चुदाई
कोई मिल गया रंडी की चुदाई / जिगोलो

हिंदी सेक्स कहानी: आधी रात में गर्लफ्रेंड की चूत चुदाई

मेरी हिंदी सेक्स कहानी मेरी और मेरे पड़ोस रहने वाली

clown
830 Views
दोस्त ने अपनी बहन को चुदवाया-1
कोई मिल गया रंडी की चुदाई / जिगोलो

दोस्त ने अपनी बहन को चुदवाया-1

नमस्ते दोस्तो, मेरा नाम आकाश है. मैं अपने दोस्त रवि

478 Views
दमन में हम दोस्तों ने नाईजीरियन लड़की को चोदा
कोई मिल गया रंडी की चुदाई / जिगोलो

दमन में हम दोस्तों ने नाईजीरियन लड़की को चोदा

दोस्तो, मैं आपका चोदू दोस्त अनुज सिंह वापस आ गया

confused

पुलिस वाली रंडी बन कर चुदी

 

अन्तर्वासना सेक्स कहानी के सभी पाठकों को मेरा नमस्कार!

मैं राजदीप सिंह आप लोगों के साथ अपनी नई कहानी ले कर हाजिर हूँ.

दोस्तो, हम सभी पुलिस वालों से नफरत करते हैं और उनके लिए हमारे दिलों में कोई दिल विशेष सम्मान नहीं होता. हालांकि अपवाद सभी जगह होते हैं. पुलिस के लिए भी ऐसा हो सकता है, परन्तु अधिकतर की यही स्थिति है.

कुछ ऐसा ही मेरे साथ भी ऐसा ही हुआ है. इस नवंबर के महीने में मेरा ट्रांसफर हो गया और अब मुझे हरियाणा टूरिज्म का आफिस मिला.

इन दिनों हरियाणा मैं स्टाफ सिलेक्शन कमीशन के पेपर चल रहे थे, तो मेरी ड्यूटी भी इस काम के लिए लगी और मुझे एक ज़िले में भेजा गया.

वहां मुझे एक स्कूल को सुपरवाइज़ करना था. तो मैं निर्धारित दिन पर उस स्कूल में पहुंच गया.

गेट पर ही मुझे वहां के प्रिंसिपल सर मिल गए. उन्होंने मुझे अपने स्टाफ से मिलवाया. मैंने सबको अपनी अपनी ड्यूटी समझा दी. फिर मैं अपनी चेयर लेकर बैठ गया. तभी अचानक एक औरत वहां आई.

वो बड़े रॉब से चिल्लाते हुए बोली- आपने लेडीज रूम के क्या अरेंजमेंट करके रखे हैं? लेडीज कहां बैठेंगी?
मुझे गुस्सा आ गया और मैंने उससे बोला- देखिए मैडम, मैं यहां का स्टाफ नहीं हूँ. मैं यहां सुपरिटेंडेंट के पद पर आया हूँ.
यह सुनकर वो बिना कुछ बोले चली गई.

पेपर शुरू हो गया. कुछ देर बाद जिला उपायुक्त वहां आए और उन्होंने सारी व्यवस्था का जायजा लिया. उन्होंने मुझसे उस महिला पुलिस के बारे में पूछा.
क्योंकि मैंने डयूटी पर किसी लेडीज अफसर को नहीं देखा था, तो मैंने उनको मना कर दिया.

उपायुक्त साहब ने सभी पुलिस कर्मियों को डांटा. उनके जाने के बाद वो ही महिला अपनी पुलिस की वर्दी में वहां आई और उसी रोब से मुझे पर चिल्लाई. उस महिला पुलिस कर्मी का नाम कुसुम था. मेरी उससे सारे स्टाफ के सामने बहस हुई, तो मुझे बड़ी ज्यादा बेइज्जती सी महसूस हुई.

मैंने सोच लिया कि यहां से जाने से पहले इससे अपनी बेइज्जती का बदला जरूर लूंगा.

फिर जैसे तैसे आज का दिन निकल गया. पेपर ठीक से हो गया. पेपर खत्म होने से पहले मैंने देखा कि मेरी सीट के पीछे एक रूम में कुसुम ने अपनी वर्दी बदली. वो अपने सामान्य कपड़े पहन कर वहां से बाहर निकली.

अब मुझे अगले दिन का इंतज़ार था. मैं अगले दिन अपनी ड्यूटी पर पहुंचा और उस कमरे में मैंने अपने तीनों मोबाइल अलग अलग ऐंगल में कैमरा मोड पर लगा दिए. फिर जैसा प्लान किया था, कुसुम अन्दर आई और कमरे में अपनी वर्दी बदलने चली गई. मैंने उधर कैमरे चालू कर रखे थे, इसलिए वो कपड़े बदलते हुए कैमरे में कैद हो गई.

उसके जाने के बाद मैंने कैमरे उतारे और उसमें बनी वीडियो देखी. उसने अन्दर काली ब्रा और गुलाबी पेंटी पहनी हुई थी. उसकी फिगर 32 32 34 की थी. कुसुम बड़ी ही सेक्सी माल थी.

पेपर शुरू होने के बाद मैंने उसे अपने आफिस में बुलवाया. मैंने उससे पूछा- कल आप मुझसे बहुत बुरी तरह से बात कर रही थीं, तो आज आप मुझे लिखित में सॉरी दो, नहीं तो मैं आपकी शिकायत आपके अधिकारियों को कर दूंगा.
यह सुनकर वो गुस्से में आग-बबूला हो गई और हरियाणवी भाषा में मुझसे बोली- मैं तन्ने ये इल्ज़ाम लगा कै अन्दर करवा दूंगी कि तूने मेरे साथ छेड़छाड़ की है.
मैंने कहा- ठीक है, परंतु पहले ये भी देख लो.

मैंने मोबाइल में बनी उसकी वीडियो दिखाई और बोला कि अगर तुम बाहर गईं, तो ये वीडियो यूट्यूब पर पोस्ट हो जाएगी.

अपनी नंगी वीडियो देख आकर वो सहम गई और मेरे मोबाइल को छीनने के लिए झपटी. उसने मेरा मोबाइल छीनने की कोशिश की. मगर मैं भी फुर्तीला था और उसकी इस हरकत के लिए चौकन्ना था.

मैंने उसे चेताया- तू मोबाइल ले लेगी, तो क्या समझती है, मुझसे जीत जाएगी? मैंने उसे ड्राइव में सेव कर दिया है.

यह सुनकर वो एकदम ठंडी पड़ गई और एक दो पल मुझे घूरने के बाद मेरे पैर पकड़ने लगी. मुझसे माफी मांगने लगी. वो बोली- मैं सॉरी लिख कर दे दूंगी.
मैंने कहा कि अब माफी नहीं, कुछ और भी चाहिए.
वो बोली- क्या चाहिए … कितने पैसे चाहिए?
मैंने कहा- तुम्हें कितने पैसे चाहिए, मुझे ये सब सामने दिखाने का?
ये सुनकर वो रोने लगी और बोली कि मेरी ज़िंदगी बर्बाद हो जाएगी, अभी 3 महीने पहले ही मेरी शादी हुई है.

अभी अन्दर ये सब ड्रामा चल ही रहा था किे तभी स्कूल के प्रिंसिपल आ गए.

उन्होंने पुलिस मेकर इस पुलिस वाली को रोता देखा, तो मुझसे पूछा- क्या हुआ सर?
मैंने बात को संभालते हुए कहा कि इन्हें छुट्टी चाहिए … लेकिन इनके सीनियर अधिकारी मना कर रहे हैं.

मैंने प्रिंसिपल के सामने उसके इंस्पेक्टर को बुलाया और कहा- मैं शाम तक के लिए कुसुम जी को अपनी गारंटी पर किसी काम से भेज रहा हूँ.
इंस्पेक्टर मुझे मना नहीं कर सकता था … क्योंकि वो आज मेरे अंडर ड्यूटी पर था.
मैंने कुसुम को इशारा किया और वो चुपचाप जाकर मेरी कार में बैठ गई.

मैंने प्रिंसिपल सर से कहा- मैं एक घंटे में वापिस आता हूँ.
यह कह कर मैं उधर से निकल आया.

कुसुम को लेकर मैं सीधा अपने होटल पहुंच गया. रूम में पहुंच कर मैंने उससे कहा- टाईम खराब किए बिना कपड़े उतारो और पूरी नंगी हो जाओ.
अब कुसुम रोने लगी.

मैंने उससे कहा- यह बात तेरे और मेरे बीच रहेगी और मैं तुम्हें इसके लिए पैसे भी दे दूंगा.
हर बेईमान पुलिस वालों की तरह पैसे का नाम सुन कर साली झट से मान गई. अब वो मुस्कुराते हुए अपने साथ साथ मेरे कपड़े भी उतारने लग गई.

उसके कपड़े उतरते ही मैं तो उसकी मदमस्त चुचियों पर टूट पड़ा. मैंने कुसुम की चूचियों को खूब मसला, दबाया और तो और उसके निप्पल भी दांत से काटे. वो मस्त होकर गर्म हुए जा रही थी.

इसके बाद मैंने उससे अपना लंड चूसने को कहा और बोला- अगर लंड चूसोगी तो 500 रुपये की टिप अलग से दूंगा.
मेरे इतना बोलते ही उसने मेरा लंड झट से मुँह में ले लिया और चूसने लगी.

सच कहूं तो कुसुम एक रंडी के जैसे मेरा लंड चूस रही थी. लंड चूसती हुई कुसुम बड़ी कामुक लग रही थी. मैंने फिर से उसकी चुचियां दबाना शुरू कर दिया.

कोई पांच मिनट लंड चुसवाने के बाद मैंने उससे कुतिया बनने को कहा. वो बेड पर कुतिया बन गई. मैंने अपने लंड और उसकी चूत के मुँह पर वैसलीन लगाई और लंड अन्दर डालने की कोशिश करने लगा. उसकी चूत अभी कसी हुई थी, तो मुझे थोड़ा दम लगाना पड़ा.

कुछ देर की मशक्कत के बाद आखिर मेरा लंड उसकी चुत में घुस ही गया. मेरा लंड शायद उसके पति से काफी बड़ा था. इसलिए वो दर्द से चिल्ला उठी.
मैंने पूछा- क्या हुआ … तुम्हारे पति ने तुम्हें अब तक चोदा ही नहीं है क्या?
तो वो बोली- अभी तक सिर्फ तीन बार ही हमारे बीच सेक्स हुआ है. ड्यूटी के वजह से मैं यहां आई हुई हूँ.

इतना सुन कर मैंने लंड के झटकों को स्पीड बढ़ा दी. अब वो ‘आहा आआह..’ करने लगी. मुझे उसकी चुदाई करने में मजा आने लगा. लिखना तो नहीं चाहता था, पर सत्य यही था कि एक वर्दी वाली औरत को चोदने का मज़ा ही कुछ और होता है.

मैंने उसके चूतड़ों पर थप्पड़ मार मार कर उसे लाल कर दिया और आगे हाथ करके उसकी चुचियों को दबाने लगा. थोड़ी देर बाद मैंने पोजिशन बदल ली और कुसुम की एक टांग को टेबल पर रखवा कर आगे से उसकी चूत में लंड डाल कर हिलाने लगा.

अब वो मस्त होकर सिसकारियां भर रही थी- आ उम्म्ह… अहह… हय… याह… आ आ …

मैं उसकी चुचियों को पूरा दम लगा कर मसल रहा था … और उसकी चूचियों के निप्पलों को बारी बारी से चूसने में लगा हुआ था.

तभी अचानक मेरा फ़ोन बज उठा. मैंने देखा कि स्कूल के प्रिंसिपल का फ़ोन था. मैंने कॉल उठाई और उनसे 15 मिनट में आने को कहा.
फिर धकापेल चुदाई करके मैंने लंड का माल कुसुम की चुत में ही छोड़ा और उसे चूमने लगा. वो मस्त हो गई.

दो मिनट आराम करने के बाद हम दोनों ने कपड़े पहने और चलने को तैयार हो गए.

मैंने कुसुम को 1500 रुपए दिए और कहा- हालांकि मेरा मन अभी भरा नहीं है. तुम बड़ी मस्त चीज हो, मैं तुम्हारे साथ पूरी रात गुजारना चाहता हूँ.
वो बोली- रात को मुझे घर जाना होता है.
मैंने कहा- आज फोन करके बोल देना कि हैडक्वार्टर में नाईट ड्यूटी है. तुमको पूरी रात की फीस मिलेगी.
फीस का नाम सुनते ही उसने कहा- देखती हूँ.

हम दोनों स्कूल आ गए. शाम 4:30 बजे पेपर खत्म हुआ और हमें स्कूल से निकलते निकलते 5 बज गए.

मैंने निकलने से पहले कुसुम को आने का इशारा किया और मैं अपनी कार लेकर अपने होटल आ गया.

मैं होटल आकर नहाया और बेड पर लेट गया. मैं सोचने लगा कि मैंने आज जो किया है, क्या वो मैंने ठीक किया. सिर्फ बदला लेने के लिए मैंने एक शादीशुदा औरत को सेक्स के लिए मजबूर किया.

थोड़ी देर बाद रूम में टेलीफोन की घंटी बजी. रिसेप्शन से कॉल थी कि कोई आपसे मिलने आई हैं.

मेरे कहने पर रिसेप्शन स्टाफ ने उसे मेरे कमरे में भेज दिया. रूम की डोरबेल बजी और मैंने डोर खोला, तो कुसुम सामने थी.
मैंने उसे अन्दर बुलाया और पीने को पानी दिया. मैंने उससे पूछा- इतनी जल्दी कैसे?
वो बोली- मैंने अपने घर बोला है कि आज मैं अपनी एक फ्रेंड के घर रुकूँगी, इसलिए जल्दी आ गई.

मैं अभी भी थोड़ा गिल्ट फील कर रहा था, तो अभी उसे चोदने का मन नहीं हुआ था. मैंने कुसुम से शॉपिंग पर चलने को पूछा तो वो झट से मान गई.

हम एक मॉल गए और वहां से कुसुम ने अपने लिए एक साड़ी और एक वेस्टर्न ड्रेस खरीदी. मैंने उसके बिल के पेमेंट करीब 12000 रूपए कर दिए. मैंने पेमेंट किया, तो वो खुश होकर मुझसे ऐसे चिपककर चलने लगी, जैसे वो मेरी बीवी हो.

अब मुझे उसके साथ अच्छा लगने लगा था. हम दोनों ने रात का डिनर बाहर किया और होटल आ गए.

मेरा अभी भी उसे चोदने का मन नहीं हो रहा था. मैं अपने बेड पर लेट गया और यूटयूब देखने लगा. वो जब बाथरूम से बाहर निकली, तो उसने ऊपर नीचे तक लाल रंग की एक ही ड्रेस पहन हुई थी. वो आकर मेरे पास लेट गई.

उसने अपने मोबाइल में एक फिल्म चला दी, जिसमें एक महिला 2 मर्दों से चुद रही थी.

मैंने उससे पूछा- ये मूवी क्यों?
तो बोली- आज तुमसे चुद कर मेरा मन हुआ है कि मैं भी 2 या 3 मर्दों से एक साथ चुदूँ.
मैंने उसे अपने घर का एड्रेस दे दिया और अभी के लिए मैं उससे लिपट गया.

मेरा मन उसे बाथरूम में चोदने को कर रहा था. मैंने अपनी इच्छा जाहिर की और उसे बाथरूम में ले गया. मैंने गर्म पानी का फव्वारा चलाया और दोनों भीगते हुए चुदाई का मजा लेने लगे.
मैंने उसे चोदते हुए उससे पूछा- मुझे तुम्हारी गांड मारनी है, क्या ख्याल है?
वो बोली- ख़ुशी से मार सकते हो.

मैंने उसे टॉयलेट सीट पर कुतिया बनाया और लग गया. मैं पीछे से उसकी गांड में शैम्पू लगा कर चिकनी करके गांड मारने लगा.

कुछ देर उसे दर्द हुआ, पर मैं लगातार चिकनाई डालता रहा, जिससे उसे गांड मराने में मजा आने लगा.

मैंने दस मिनट तक उसकी गांड मारी और फिर अपने लंड की पिचकारी उसकी गांड में छोड़ दी. जिससे उसकी गांड मेरे लंड के माल से भर गई.
हम दोनों नहा कर बाहर आ गए और फिर एक दूसरे से चिपक कर सो गए.

अगली सुबह सुबह 5 बजे मेरा मन फिर से कुसुम को चोदने का हुआ, तो मैंने एक राउंड और लिया. उसे सुबह फिर से चोदा.
फिर हम लोग नहा कर ब्रेकफास्ट करके अपने अपने काम पर निकल गए. इस तरह से एक पुलिस वाली एक रंडी बन गई.

उस दिन के बाद से मैं किसी ऐसी महिला की तलाश में हूँ, जो कड़क हो और बिस्तर पर खूब प्यार कर सके.

आप सभी पाठकों को वर्दी वाली रंडी की चुदाई की कहानी कैसी लगी, जरूर लिखें.

Related Tags : गांड, गैर मर्द, चोदन स्टोरीज, जिगोलो, रंडी की चुदाई, होटल में सेक्स
Next post Previous post

Your Reaction to this Story?

  • LOL

    1

  • Money

    1

  • Cool

    0

  • Fail

    0

  • Cry

    0

  • HORNY

    1

  • BORED

    2

  • HOT

    0

  • Crazy

    0

  • SEXY

    0

You may also Like These Hot Stories

2503 Views
एक सेक्सी रंडी की चुदाई का खेल-1
नौकर-नौकरानी

एक सेक्सी रंडी की चुदाई का खेल-1

  दोस्तो, मैं आपकी अपनी रंडी शाहीन शेख. अब जब

confused
1200 Views
हवसनामा: मेरी तो ईद हो गयी
कोई मिल गया

हवसनामा: मेरी तो ईद हो गयी

मेरे अज़ीज़ दोस्तो, आप सबका दिल से शुक्रिया. इस कहानी के

winkconfused
1518 Views
एक चूत में दो लौड़े
जवान लड़की

एक चूत में दो लौड़े

नमस्ते दोस्तो, मैं गुड्डू इलाहाबाद का रहने वाला हूँ। आज