Search

You may also like

1007 Views
मज़हबी लड़की निकली सेक्स की प्यासी- 2
ऑफिस सेक्स

मज़हबी लड़की निकली सेक्स की प्यासी- 2

प्यासी चूत एक लड़की की … सेक्स के लिये ब्वॉयफ्रेंड

nerd
2256 Views
बाप बेटी की चुदाई करवा दी
ऑफिस सेक्स

बाप बेटी की चुदाई करवा दी

मेरा एक बॉयफ्रेंड है थोड़ी बड़ी उम्र का … एक

winkhappy
1050 Views
मामी की सहेली की चुदाई
ऑफिस सेक्स

मामी की सहेली की चुदाई

मेरी नयी अन्तर्वासना सेक्स स्टोरी  (Mami Ki Chudai Story) मामी

गोरी अंग्रेजन लड़की को चोदा

यू एस में मेरी कंपनी में एक नई अमेरिकन सेक्सी गर्ल ट्रेनिंग के लिए आई. उसे देखते ही मैं उसकी चूत चुदाई का सोचने लगा. विदेशी गोरी लड़की की चुदाई का मेरा अनुभव कैसा रहा??

हैलो फ्रेंड्स, मेरा नाम प्रकाश चौधरी है. मेरी उम्र 28 साल है। मैं राजस्थान का रहने वाला हूँ और पिछले काफ़ी समय से अमेरिका की एक केमिकल कंपनी में काम करता हूँ।
जो लोग मेरे बारे में जानते हैं उन्हें तो पता होगा कि मेरे लंड का साइज़ 9 इंच का है। मैं एवरेज देसी बॉडी का बंदा हूँ।

पहले तो मुझे सेक्सी भाभी की चुदाई करने में ज़्यादा मज़ा आता था मगर गुजरते वक्त के साथ अब तो सेक्स का बहुत चस्का लग गया है. इसलिए अब तो जो माल मिले उसको उसके हिसाब से चोद सकता हूँ।

चूंकि मैं काफी समय से अमेरिका में था और काम में बिजी था इसलिए लिखने का वक्त नहीं मिल पा रहा था.

अमेरिका में काफी व्यस्त जिन्दगी हो जाती है मेरी इसलिए काफी समय के बाद मैं ये अपनी नयी और रीयल सेक्स स्टोरी लिख रहा हूं. ये कहानी मैंने तब लिखी थी जब मैं कुछ दिन पहले ही भारत में था. मगर कहानी अमेरिका में हुई घटना की ही है.

इस कहानी में वैसे तो जो लड़की थी वो अमेरिका की ही थी. उससे जो भी बात हुई वो सब इंग्लिश में थी. मगर ये कहानी मैं अन्तर्वासना सेक्स कहानी के पाठकों के लिए लिखना चाहता था इसलिए हिन्दी में ही लिख रहा हूं. मुझे भी हिन्दी सेक्स कहानी बहुत पसंद होती है क्योंकि उसमें फील ज्यादा होती है और मूड बन जाता है.

जब मैंने भारत से अमेरिका जाकर ज्वॉईन किया तो सब मेरे लिए बहुत नया था. मैं किसी को जानता नहीं था. वहाँ मुझे प्लांट में पद भार मिल गया। थोड़े दिन के बाद जिन्दगी एक जैसी हो गयी थी. रोज का वही काम इसलिए बोरियत सी होने लगी थी.

कुछ दिन बाद प्लांट में एक नयी लड़की ट्रेनिंग के लिए आयी। उसका नाम मैरी था। जब मैंने उसको पहली बार देखा तो लगा कि अब अमेरिका आना सफल हो जाएगा क्योंकि काफ़ी दिनों से चूत का मेरे लिये जैसे सूखा सा पड़ा हुआ था।

पहले दिन तो वो लड़की अपना कागजी काम करके चली गयी. अगले दिन से उसको ट्रेनिंग पर आना था. पता किया तो मालूम हुआ कि वो प्लांट में प्रोसेसिंग का काम सीखने आई है. मैं मन ही मन खुश हो रहा था. सच कहूं तो उसको चोदने के बारे में सोच कर खुश हो रहा था.
वैसे लड़के अक्सर लड़की को देख कर चोदने की प्लानिंग करना शुरू कर ही देते हैं.

फिर अगले दिन जब वो आई तो हम दोनों का परिचय हुआ. फिर उसने अपने बारे में बताया कि वो केमिकल इंजीनियरिंग की छात्रा है।

उस दिन वो टॉप और जीन्स पहन कर आई थी. मैरी एक भरे बदन की लड़की थी। उसके बदन का नाप कुछ ऐसा था- 36 के बूब्स, 32 की कमर और 34 की गांड। उसका फिगर किसी के भी लंड को खड़ा करने के लिए काफी था.

मैरी को देख कर मेरा मन ललचा रहा था. बार बार ध्यान उसके बूब्स की ओर ही जा रहा था. एक दो दिन के अंदर ही हम दोनों के नम्बर एक्सचेंज हो गये. फिर घर जाने के बाद भी उसके साथ किसी न किसी बहाने से बातें होने लगीं.

हम काम के बहाने से एक दूसरे की तारीफ़ कर देते थे और मुस्करा देते थे. एक दिन मैरी ने मुझसे मेरी गर्लफ्रेंड के बारे में पूछ लिया. मैंने सोचा कि यही वक्त है मौके पर चौका मारने का।

मैं बोला- सबसे पहली बात तो मैं यहां पर बिल्कुल नया हूं और दूसरा मुझे अभी तक तुम्हारे जैसी कोई हॉट लड़की यहां अमेरिका में मिली नहीं है.
इस बात पर उसने एक कातिल स्माइल दी और मैं जान गया कि काम जल्दी ही बन जायेगा. ये सोचकर ही लंड ने एक करवट मार ली.

फिर उसी रात को चैट पर बात करते समय उसने पूछ लिया- आपको मैं कितनी हॉट लगती हूं?
एक बार तो मन किया कि सीधा बोल दूं- लण्ड खड़ा हो जाता है तुम्हें देख कर। फिर सोचा इतनी जल्दी नहीं करनी चाहिए. इसलिए चुप रह गया.

फिर ऐसे ही बातें होने लगी. मैंने उससे उसका रिलेशनशिप स्टेटस पूछा तो उसने भी सिंगल बताया.
मैंने पूछा- वर्जिन हो क्या?
वो बोली- इस ज़माने में वर्जिन कौन रहता है?
ये बोल कर वो हंसने लगी.

मैं जान गया कि ये खेली खाई है और ज्यादा नखरा नहीं करेगी चुदवाने में। फिर ऐसे ही हमारी बातें होती रहीं और सेक्स और फेंटेसी के बारे में भी चर्चा होने लगी थी.

एक रात को मैंने उसे अपने घर पर पार्टी के लिए इन्वाइट किया. वो मान भी गयी और बोली कि रात 9 बजे आ जायेगी. मैंने भी पार्टी की तैयारी कर ली और कुछ सामान खाने के लिए ले आया और पीने के लिए ड्रिंक्स भी ले आया.

रात को जब वो 9 बजे आई तो रेड कलर का वनपीस पहन कर आई थी जिसमें वो गजब की सेक्सी लग रही थी. दोस्तो, आप सोचो कि एक गोरी अंग्रेजन लाल कलर के वनपीस में क्या पटाखा लगी होगी. उसको देखते ही लण्ड सलामी देने लग गया।

मैंने उसे अंदर सोफ़े पर बैठाया और हम बातें करने लग गये। बातों बातों में मैं ड्रिंक ले आया और हम पीने लग गए. ड्रिंक करते समय हम आमने सामने बैठे थे.
थोड़ी देर बाद मैंने उसकी तारीफ़ करते हुए कहा- आपका फ़िगर बहुत हॉट है, आपके कर्व (बूब्स) बहुत अच्छे हैं।

मैरी को उस समय थोड़ा नशा हो रहा था.
मेरे इतना बोलते ही उसने कहा- यू वान्ट टू सक्? (क्या तुम इनको चूसना चाहते हो)
मैंने कहा- जरूर … आपके बूब्स बहुत मस्त हैं।

मैं उसके पास जाकर उसको किस करने लग गया. साथ ही उसके बूब्स भी दबाने लग गया। उस के बूब्स बहुत बड़े और काफी नर्म भी थे और मुझे बहुत मजा आ रहा था. धीरे धीरे हम गर्म होने लग गए थे.

अब मैरी के मुंह से गर्म आवाजें निकल रही थीं- अम्म … ऊह्ह … यस … आह्ह … करके वो वो अपने चूचे दबवाते हुए मुझे किस कर रही थी.
उसको किस करते हुए और उसके बूब्स दबाते हुए मैंने उसका टॉप खोल दिया. उसने उसके नीचे पिंक कलर की ब्रा पहनी हुई थी जो उसके बूब्स पर बहुत हॉट लग रही थी. मेरा लंड भी एकदम से कड़क हो गया था.

फिर मैंने उसकी ब्रा भी खोल दी और उसको वहीं सोफ़े पर लेटा लिया. लिटा कर मैं पूरी तरह से उसके बूब्स पर टूट पड़ा और उन्हें जोर जोर से सक करने लगा.
वो लगातार सिसकारने लगी- आ … आ … आ … येस … ज़ोर्डन … कमॉन।

मैं कभी उसके निप्पल काट रहा था तो कभी उसकी गर्दन के पास काट रहा था। हम दोनों पागल हो रहे थे. अब कमरे में सिर्फ़ आ … आ … आ … की आवाज़ें ही आ रही थीं। फिर उसने झट से मुझे साइड किया और मुझे सोफ़े पर बैठा लिया.

फिर वो खुद मेरी टांगों के बीच में बैठ गयी और मेरी कैपरी उतार कर मेरे अंडरवियर को भी नीचे कर लिया. अब मेरा लौड़ा उसके सामने नंगा होकर उछल रहा था. उसने रंडियों की तरह मेरे लंड को हाथ में लेकर हवस भरी नजर से देखा और फिर अपने गुलाबी होंठ खोल कर मेरे गुलाबी गर्म सुपाड़े को मुंह में भर कर मेरा लंड चूसने लगी.

उस गोरी के होंठ जैसे ही मेरे लंड पर लगे तो मुझे जन्नत महसूस हुई। वो कभी लंड को चूस रही थी तो कभी मेरी गोलियों को चूस रही थी. मैं उसके बालों को हाथों से हटाकर साइड कर रहा था. फिर उसने बहुत सारा थूक मेरे लंड पर गिराया और लंड को मुट्ठी में लेकर मसलने लगी.

कुछ पल लंड को मसला और फिर से उसने मेरे लंड को मुंह में ले लिया और चूसने लगी. दोस्तो, मैंने आज तक केवल इंडियन देसी गर्ल की चुदाई ही की थी. आज अंग्रेजन गोरी की चुदाई करने का मौका था जिसके लिये मेरा लौड़ा बुरी तरह से अकड़ा हुआ था. मैरी मेरा लंड चूसते हुए ऐसे लग रही थी जैसे किसी पोर्न मूवी का सीन चल रहा हो .

फिर मैंने उसको खड़ी किया और कहा कि मुझे भी तेरी चूत चाटनी है. फिर मैंने उसको सोफे पर लिटा दिया. वो मेरे सामने चूत खोल कर लेट गयी. बहुत कमाल और सोफ्ट चूत थी उसकी. एकदम गोरी और लाल चूत देख कर मेरे मुंह में पानी आ रहा था.

मैंने उसकी चूत में मुंह लगा दिया और चाटने लगा. मैं उसकी चूत को चाटने लगा तो वो पागल हो गयी और जोर जोर से सिसकारने लगी- आह्ह … फक मी … आआ … कमॉन डिअर … फक मी हार्ड।

उसकी चूत चाटने में बहुत मस्त रस मिल रहा था. मैं जीभ घुसा घुसा कर उसकी चूत के रस को बाहर खींच रहा था. वो मेरे मुंह को अपनी चूत पर जोर से दबाने की कोशिश कर रही थी और नीचे से अपनी गांड को सोफे के ऊपर उठाने की कोशिश कर रही थी ताकि मेरी जीभ उसकी चूत के और अंदर तक घुस जाये.

जब मुझे लगा कि वो फुल गर्म हो गयी है तो मैंने उसको किचन की टेबल पर बैठाया और उसके सामने खड़ा होकर अपना लंड उसकी चूत पर सेट कर दिया. मैंने उसकी जांघों को पकड़ कर एक झटका मारा और उसके मुंह से निकल गया- आआ… फक … आ फक मी।

मेरा लंड उसकी चूत में चला गया था और मैंने फिर धक्के मारने शुरू कर दिया. वो मस्ती से चुदने लगी और मुझे स्वर्ग सा मजा आने लगा. मैं उसको फिर तेज तेज चोदने लगा और कमरे में हम दोनों की सिसकारियां गूंजने लगीं. वो इंग्लिश में गाली देते हुए चुद रही थी.

उसकी गालियाँ सुन कर मेरे को और भी जोश आ रहा था जिससे मैं ज्यादा फुल स्पीड में उसकी चूत को पेल रहा था.
मैं भी गलियाँ दे रहा था- साली रण्डी, तेरी चूत फाड़ दूँगा आज. पहली बार गोरी चूत मिली है। मैं तुझे चोद के रख दूंगा.

इस चुदाई के खेल के बीच में ही उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया. जैसे ही उसने पानी छोड़ा तो मैंने उसकी चूत को चाटना शुरू कर दिया. जिसके कारण उस की चूत साफ़ भी हो गई. मेरे चाटने से वो दोबारा गर्म भी हो गयी.

अब जैसे ही वो गर्म हुई मैंने उसको घोड़ी बना लिया. उसकी फूली हुई चूत एकदम मस्त लग रही थी. उसकी फूली हुई गुलाबी चूत को देखकर मेरे लौड़े में फिर से उबाल आ गया था.

मैंने उसकी चूत पर हाथ मारा और उसको सहलाया. फिर एक उंगली उसकी चूत में अंदर डाल कर देखी. उसकी चूत के अंदर पूरी चिकनाई थी. मैंने लंड को एक बार फिर से उसकी चूत पर सेट कर दिया और एक झटका मारा. एक बार में ही पूरा लंड अंदर चला गया.

वो एक बार आगे हुई. शायद उसकी चूत में लंड अंदर दर्द कर गया था. मगर उसी वक्त मैंने उसकी चूत में धक्के लगाने शुरू कर दिये. मैंने उसकी गांड को थाम लिया और उसकी चूत को पेलने लगा.

चुदते हुए वो रंडी की तरह चिल्ला रही थी. मुझे उसका ऐसे चिल्लाना बहुत मजा दे रहा था. मैं उसको बिल्कुल रंडी बना कर चोद रहा था. अब कामुक सिसकारियों के साथ पट-पट की आवाज भी रूम में गूंज रही थी. कुछ ही देर में उसका बदन फिर से अकड़ने लगा और एक बार फिर से उसकी चूत से पानी निकलने लगा.

मैरी की चुदाई मैंने चालू रखी क्योंकि मेरा लंड अभी नहीं झड़ने वाला था. कुछ ही देर में उसकी चूत में दर्द होने लगा और वो जोर जोर से चीखने लगी. अब मुझे और ज्यादा मजा आने लगा.

वो मुझसे छुड़ाने की कोशिश कर रही थी लेकिन मैं उसकी चूत को धमाधम पेलने में लगा हुआ था. फिर वो मुझे गालियां देने लगी- छोड़ दे मादरचोद, पहली ही चुदाई में मेरी जान निकालेगा क्या?

मैंने कहा- आज नहीं छोड़ूंगा तुझे, पहली बार किसी विदेशी गोरी की चूत मिली है. आज तो मैं पूरा मजा लूंगा साली रंडी.
वो बोली- ठीक है, चोद दे कमीने, चोद जोर से. … अपना पानी मुझे पिला दे आज।

दस मिनट तक और मैंने उसकी चूत को जमकर चोदा और फिर मेरा पानी निकलने को हो गया. मैंने उसकी चूत से लंड निकाल लिया और उसको घुटनों के बल कर लिया. उसके मुंह में लंड देकर चोदने लगा. दो मिनट बाद ही मेरे लंड से वीर्य की धार निकली और शुरू का कुछ वीर्य उसके मुंह में गिरा और बाकी का उसके बूब्स पर।

मैरी के गोरे गोरे बूब्स पर मेरा सफेद वीर्य गिरा तो वो उसको दोनों चूचियों के बीच में रगड़ने और मसलने लगी. उस नजारे को देख कर लग रहा था जैसे आज मैंने किसी पोर्न स्टार की चूत मारी है. वो बिल्कुल रंडियों के जैसे चुदी थी.

उसके बाद हम थका थका महसूस कर रहे थे तो बाथरूम में जाकर गर्म पानी से नहाये. उसके बाद हम दोबारा से ड्रिंक करने लगे. बातें करते हुए उसने कहा कि सेक्स बहुत ही शानदार रहा. मजा आ गया.

मैरी बोली- मैंने पहली बार किसी इंडियन का डिक (लौड़ा) अपनी चूत में लिया है. वाकई में इंडियन लौड़े बहुत दमदार होते हैं, मुझे बहुत मजा आया तुम्हारे लंड से चुदते हुए.

फिर मैंने भी उसकी तारीफ करते हुए कहा- तुम भी बहुत शानदार तरीके से चुदवाती हो. बहुत ही मस्त तरीके से लंड चूसती हो. सेक्स में पूरा मजा देती हो. तुम्हारे साथ मुझे भी बहुत आनंद आया.

तो दोस्तो, इस तरह से मैंने एक विदेशी गोरी की चूत चुदाई की. पहली बार मैंने किसी अमेरिकन सेक्सी गर्ल की चुदाई की थी जिसका अनुभव वाकई में निराला था.

इंडियन गर्ल की चुदाई तो मैं बहुत बार कर चुका था इसलिए ये एक्सपीरियंस हमेशा के लिए मेरे मन में बस गया. आज भी जब उसकी चूत की वो चुदाई याद करता हूं तो लंड में से पानी निकलना शुरू हो जाता है.

दोस्तो, आपको मेरी यह स्टोरी कैसी लगी मुझे जरूर बतायें. अपने कमेंट्स में अपनी राय छोड़ें और इसके साथ ही आप मुझे मेरी ईमेल पर भी मैसेज कर सकते हैं. मैंने अपना ईमेल नीचे दिया हुआ है.

Related Tags : ओरल सेक्स, कामुकता, गैर मर्द, नंगा बदन, हिंदी पोर्न स्टोरीज
Next post Previous post

Your Reaction to this Story?

  • LOL

    0

  • Money

    0

  • Cool

    0

  • Fail

    0

  • Cry

    0

  • HORNY

    0

  • BORED

    1

  • HOT

    0

  • Crazy

    0

  • SEXY

    0

You may also Like These Hot Stories

343 Views
ऐसी चूत फिर कभी नहीं मिली
ऑफिस सेक्स

ऐसी चूत फिर कभी नहीं मिली

मेरा नाम अभय है, उम्र 35, कद 5 फुट 10

878 Views
सगे भाई बहन ने ज़ोइन किया स्वैपिंग क्लब
ऑफिस सेक्स

सगे भाई बहन ने ज़ोइन किया स्वैपिंग क्लब

मैं राज गर्ग दिल्ली रहता हूँ और अपने बिज़नस के

2476 Views
ऑफिशियल टूर के दौरान मिली तलाकशुदा की चूत
ऑफिस सेक्स

ऑफिशियल टूर के दौरान मिली तलाकशुदा की चूत

ऑफिस गर्ल सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैं office के